मुख्यक लेखा नियंत्रक संगठन

क्रम संख्याशीर्षकडाउनलोड/लिंक
1संगठन चार्टडाउनलोड (127 KB) pdf

सचिव (गृह) गृह मंत्रालय के मुख्य लेखा प्राधिकारी हैं तथा वे वित्तीय सलाहकार और प्रधान मुख्य लेखा नियंत्रक की सहायता से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं। प्रधान मुख्य लेखा नियंत्रक गृह मंत्रालय के विभागीय लेखा संगठन के प्रमुख हैं।

गृह मंत्रालय के सभी विभागों का लेखा संगठन एक ही है तथा इसमें एक प्रधान लेखा कार्यालय और 48 वेतन एवं लेखा कार्यालय हैं जिनमें से 27 नई दिल्ली में, 1 चेन्नई में, 1 रांची में, 3 कोलकाता में, 4 शिलांग में, 3 पटना में, 1 लखनऊ में, 2 जम्‍मू में, 1 गुवाहाटी में, 2 हैदराबाद में, 1 रायपुर में, 1 मुंबई में और एक देहरादून में स्थित हैं तथा एक आंतरिक लेखापरीक्षा विंग है। प्रधान मुख्य लेखा नियंत्रक की सहायता के लिए मुख्य लेखा नियंत्रक, 6 लेखा नियंत्रक, 15 उप लेखा नियंत्रक/सहायक लेखा नियंत्रक/सहायक निदेशक और 107 वरिष्‍ठ लेखा अधिकारी/लेखा अधिकारी हैं।

  • प्रधान मुख्‍य लेखा नियंत्रक का कार्यालय निम्‍नलिखित कार्यों के लिए उत्‍तरदायी है:-

    • वेतन एवं भत्तो, कार्यालय के आकस्मिक खर्चों, सरकारी कर्मचारियिों को अनुज्ञेय ऋणों, अग्रिमों के विविध भुगतानों, राज्य सरकारों को सहायता अनुदान, ऋणों सहित गृह मंत्रालय से संबंधित सभी भुगतान देश के विभिन्न भागों में स्थित, विभिन्न विभागों के भुगतान एवं लेखा कार्यालयों तथा चैक आहरित करने वाले आहरण एवं संवितरण अधिकारियों के माध्यम से किए जाते हैं।
    • मंत्रालय का स्वीकार्य बजट तैयार करना तथा उसका लेखाकरण और सरकार की तरफ बकाया प्राप्तियों (रिसीप्‍ट्स) की अवलोकन करना।
    • मंत्रालय के मासिक लेखों का संकलन और समेकन तथा उन्हें महा लेखानियंत्रक को प्रस्तुत करना।
    • योजना-वार व्यय तथा नकदी प्रवाह का विवरण तैयार करना।
    • विभाग के विभिन्न अधीनस्थ कार्यालयों तथा वेतन एवं कार्यालयों द्वारा रखे जाने वाले भुगतान एवं लेखा रिकॉर्ड के आंतरिक निरीक्षण की व्यवस्था करना।
    • मंत्रालय के बजट विभाग का निरिक्षण करना ।

एकीकृत वित्त सलाहकार’ की योजना के अंतर्गत संशोधित परिणाम आधारित वित्तीय एवं लेखाकरण प्रणाली में जिन कार्यों के लिए प्रधान मुख्य लेखा नियंत्रक उत्तरदायी होंगे, उनका उल्लेख नीचे किया गया है:

  • (I) प्राप्तियां, भुगतान और लेखे:-

    • निर्धारित नियमों एवं विनियमों के अनुरूप शुद्ध एवं समय पर भुगतान।
    • प्राप्तियों की समय पर वसूली।
    • मासिक एवं वार्षिक लेखों का समय पर एवं सही संकलन एवं समेकन
    • बैंकिंग प्रणाली के द्वारा मंत्रालय को अच्छी सेवा मुहैया कराना
    • निर्धारित लेखा मनको नियमो और सिधान्तो का पालन
    • समयपूर्ण सम्बंधित एवं उपयोगी वित्तीय रिपोर्टिंग संकलित, शुद्ध करना
  • (II) आंतरिक लेखापरीक्षा/निष्पादन लेखापरीक्षा:-

    • आंतरिक नियंत्रण की प्राप्यता तथा प्रभावकारिता का सामान्‍य रूप से तथा वित्‍तीय प्रणालियों की सुदृढ़ता और वित्‍तीय एवं लेखा रिपोर्टों की विश्‍वसनीयता का आकलन;
    • जोखिम घटकों (परिणाम बजट में शामिल जोखिम घटकों सहित) का पता लगाना तथा उनकी निरिक्षण;
    • धन का सही उपयोग सुनिश्चित करने के लिए सेवा प्रदायगी तंत्र की मितव्‍ययिता, कुशलता एवं प्रभावकारिता का मूल्‍यांकन।
    • चीजों को आसान बनाने तथा उनमें संशोधन करने के लिए प्रभावी मॉनीटरिंग प्रणाली।
    • मंत्रालय के विभिन्न योजनाए एवं कार्यक्रम में उत्पन्न अवरोध का विशेष/जोखिम आधारित जाँच करा कर लक्ष्य प्राप्ति में उत्पन्न बाधा पता लगाना एवं , कार्यक्रम के सुधार हेतु उपचारात्मक कदम के लिए उचित परामर्श देना I
  • (III) वित्तीय प्रबंधन संबंधी अन्य कार्य:-

    • गैर-कर राजस्‍व प्राप्तियों का अनुमान एवं प्रवाह।
    • आस्तियों और देयताओं की अवलोकन।
    • राजकोषीय उत्‍तरदायित्‍व एवं बजट प्रबंधन अधिनियम के अंतर्गत तथ्‍यों का उल्‍लेख करना तथा रिपोर्ट प्रस्‍तुत करना।
    • आईटी आधार ऑनलाइन भुगतान और GPF एवं पेंशन केस के लिए PFMS के विभिन्न उपागम का क्रियान्वन करना I
  • लेखा संगठन निम्नलिखित कार्यों के लिए भी उत्तरदायी है:-

    • तुरंत भुगतान सुनिश्चित करना।
    • पेंशन, भविष्य निधि और अन्य दावों का शीघ्र निपटान।
    • मासिक एवं वार्षिक लेखों, वित्तीय लेखों का संकलन तथा उन्हें महालेखा नियंत्रक को प्रस्तुत करना।
    • प्रभावी वित्तीय प्रबंधन के लिए संबंधित प्राधिकारियों को लेखाकरण संबंधी सूचना उपलब्ध कराना।

प्रधान मुख्य लेखा नियंत्रक अपने उक्तख उत्तरदायित्वों का निर्वहन दो बेसिक यूनिटों (क) वेतन एवं लेखा कार्यालय (ख) प्रधान लेखा कार्यालय के माध्यम से करते हैं।

  • (क) वेतन एवं लेखा कार्यालय:-

    यह विभागीय लेखा संगठन का बेसिक यूनिट है। पूरे भारत में गृह मंत्रालय के 48 वेतन एवं लेखा कार्यालय हैं। इसके मुख्य कार्य निम्न प्रकार हैं:

    • ऋणों एवं सहायता अनुदान सहित नॉन-चैक आहरितकर्ता आहरण एवं संवितरण अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत सभी बिलों की पूर्व लेखापरीक्षा तथा भुगतान।
    • चैक आहरितकर्ता आहरण एवं संवितरण अधिकारियों को तिमाही साख-पत्र जारी करना तथा उनके वाउचरों की बाद में लेखापरीक्षा करना।
    • प्राप्तियों तथा उनके द्वारा किए गए भुगतानों के मासिक लेखों का संकलन जिसमें चैक आहरणकर्ता आहरण एवं संवितरण अधिकारियों के लेखों को भी शामिल किया जाता है।
    • सामान्य भविष्य निधि का रखखाव तथा सेवानिवृत्ति लाभों की स्वीकृत।
    • पेंशन का पुनः अवलोकन सहित पेंशन मामले का निपटारा करना
  • (ख) प्रधान लेखा कार्यालय:-

    गृह मंत्रालय में विभागीय लेखा संगठन से संबंधित मामलों से जुड़े सभी प्रशासनिक कार्य करता है। यह मंत्रालय, महालेखानियंत्रक और अन्‍य संगठनों के कार्यों के समन्‍वय के लिए भी उत्‍तरदायी है।

प्रधान लेखा कार्यालय के कार्य:-

  • स्थानान्तरण/पद स्थापन, संलग्न , तकनीकी त्यागपत्र , रिक्त स्थान का निर्वाह , नियुक्ति के पत्राचार , PVR, नियुक्ति करने का समयावधि बढ़ाना , स्वेछा से त्यागपत्र स्वीकार करना I
  • ग्रुप ‘A’ & ‘B’ के स्थानान्तरण/पद स्थापन/ प्रोन्नति/ अभ्यावेदन / PAD/CRPF का एन्काद्रेमेंट करना/ MACPs केस/ AAO की नियुक्ति(Ad. Hoc/ परीक्षा में सफल अधिकारी, ग्रुप ‘A’ & ‘B’ पद के कार्यकाल के विवरण का अनुरक्षण करना I
  • GeM, सामान्य प्रशासन , प्राप्ति , सलाहकार को सूचि में सम्मिलित करना & किराये पर लेना, कर्मचारियों (DEOs & रख रखाव हेतु) को सविदात्मक हेतु किराये पर लेना I
  • NPS, चेक प्रिंट , ERM, ग्रुप ‘B’ के डाटा प्रविस्थ
  • प्रतिनियुक्ति / पुनः मूल प्रत्यावर्तन , HBA, वेतन स्थिरण
  • ग्रुप बी के MACP, लेखाकार, कनिष्क , MTS के प्रोनान्ति, परख अवधि निश्चित, ग्रुप ‘c’ के ग्रेडेशन क्रम, ग्रुप ‘c’ के संयुक्त वरीयता का क्रम , टंकण परीक्षा से छुट
  • अनुशासन सम्बन्धी / सतर्क केस , प्रशासनिक अवलोकन
  • ACR, चिकित्सा सम्बन्धी भुगतान, प्रोनान्ति एवं अन्य सम्बन्धी विषय की सावधानी, जाँच सम्बन्धी विषय , ग्रुप ‘B’ अधिकारी के संपत्ति सम्बन्धी ब्यौरा I
  • बजट, CPGRAM पोर्टल , त्रमसिक व्यय का विवरण (MIMS), मासिक इलेक्ट्रॉनिक DO, मुख्य कार्यक्रम के DO, पहचान पत्र, नये PAOs के उद्घाटन, सरकारी सेवक को अग्रिम राशि, वार्षिक विवरण , DAO, गृह मंत्रालय के पद का सृजन करना
  • निर्देशिका, अग्रिम/निकासी GPF, पासपोर्ट/वीजा प्राप्ति हेतु NOC/IC, छुट्टी, विदेश जाने एवं रहने हेतु इजाजत , सामान्य परिपत्र, संपत्ति हेतु सूचना, बाहरी परीक्षा हेतु सूचना/ इजाजत देना I
  • विधि सम्बंधित/ न्यायलय मामला
  • RTI, प्रशिक्षण, AAO परीक्षा, विभागीय प्रमाणित परीक्षा

लेखों से संबंधित प्रधान लेखा कार्यालय के कार्य:-

  • मंत्रालय के लेखों का समन्‍वय तथा इन्‍हें महालेखानियंत्रक को प्रस्‍तुत करना।
  • वार्षिक विनियोजन लेखा।
  • केन्‍द्रीय लेन-देन का विवरण।
  • लेखा एक नजर में’ तैयार करना।
  • महालेखानियंत्रक, वित्‍त मंत्रालय और महालेखापरीक्षा निदेशक, केन्‍द्रीय राजस्‍व को प्रस्‍तुत किए जाने वाले संघ के वित्‍तीय लेखे।
  • राज्‍य सरकारों को ऋणों और अनुदानों का भुगतान।
  • यदि आवश्‍यक हो तो सभी भुगतान एवं लेखा कार्यालयों तथा मंत्रालय को कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग, महा लेखानियंत्रक जैसे अन्‍य संगठनों के साथ परामर्श करके तकनीकी सलाह देना।
  • प्राप्‍त की जाने वाली राशि का बजट तैयार करना।
  • पेंशन बजट तैयार करना
  • चैक बुकों का उपाप्ति तथा उन्‍हें भुगतान एवं लेखा कार्यालय/चैक आहरणकर्ता आहरण एवं संतिवरण अधिकारियों को उपलब्‍ध कराना
  • महालेखानियंत्रक के कार्यालय के साथ आवश्‍यक संपर्क बनाए रखना और लेखा संबंधी मामलों में प्रामाणिक बैंक के साथ समग्र समन्‍वय तथा नियंत्रण। प्रामाणिक बैंक, भारतीय स्‍टेट बैंक के माध्यम से गृह मंत्रालय को प्राप्‍त होने वाली सभी राशियों तथा उसकी ओर से किए जाने वाले भुगतानों का सत्‍यापन एवं मिलान।
  • भारतीय रिजर्व बैंक में गृह मंत्रालय के लेखों का रखरखाव और शेष नकद राशियों का मिलान।
  • ऋण एवं LoA अनुभाग, सहायक अनुदान जारी करना /राज्यों को ऋण/ UT सरकार से सम्बंधित कार्यो का निष्पादन एवं राज्य/UT सरकार को स्वीकृत ऋण की वापसी सम्बंधित विवरण रखना , गृह मंत्रालय की ओर से विभिन्न मंत्रालय/ विभागों को LoA जारी किया जाता है जो इसकी सेवा इसके अभिकर्ता के रूप में करते है एवं LoAs दस्तावेजो का विवरण बनाये रखते है I
  • आंतरिक जाँच

    कमियों तथा कमजोर कड़ि‍यों पर प्रबंधन द्वारा विचार किए जाने और उचित मापदंड हेतु सलाह के लिए आंतरिक लेखापरीक्षा पूरे विश्‍व में एक प्रमुख साधन है I प्रधान मुख्य लेखा नियंत्रक के कार्यालय के आंतरिक जाँच विभाग (IAW) का उद्देश्‍य एवं दायित्व मंत्रालय एवं सभी इससे जुड़े हुए और इसके अधीनस्थ विभागों का आंतरिक जाँच करना और महत्वपूर्ण खोज मंत्रालय को प्रस्तुत करना, जो मुख्या लेखा प्राधिकारी है I

  • आंतरिक लेखा विभाग के कार्य :

  • योजना लेखा परीक्षा
  • (i) LWE प्रभावित क्षेत्र और जम्मू एवं कश्मीर के सुरक्षा सम्बंधित व्यय
    (ii) सभी राज्यों को पुलिस बल का आधुनिकरण
  • गृहमंत्रालय एवं संलग्न और अधीनस्थ विभागों हेतु अनुपालन जाँच
    • विविध:-

      1. सूचना का अधिकार।
      2. गृह मंत्रालय के विभागीय लेखाकरण संगठन की निर्देशिका।
      3. 2017-18 के लेखा एक नजर में।
      4. 2016-17 के लेखा एक नजर में।
      5. 2015-16 के लेखा एक नजर में।
      6. 2014-15 के लेखा एक नजर में।
      7. 2013-14 के लेखा एक नजर में।
      8. ई-लेखा।
      9. लोक वित्‍तीय प्रबंधन प्रणाली (PFMS)।